245 किमी की रफ्तार से ओडिशा पहुंचा तूफान ‘फानी’, पेड़-झोपड़ी और मकान उड़े, 3 की मौत

नई दिल्ली। पिछले कई दिनों से चर्चा में रहा फानी तूफानी आखिरकार शुक्रवार सुबह ओडिशा के तट से टकरा गया। सुबह करीब 9 बजे फानी तूफान 245 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पुरी पहुंचा, इस दौरान समुद्री तट के पास पेड़, झोपड़ी और कच्चे मकान सबकुछ उड़ गए। तूफान के दौरान अलग-अलग जगह पर तीन महिलाओं की मौत हो गई। 

मौसम विभाग के मुताबिक, ओडिशा के साथ-साथ आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में भी तूफान का असर हो रहा है। ओडिशा और आंध्र प्रदेश के अधिकांश तटीय शहरों में जबर्दस्त बारिश हो रही है, वहीं देर शाम तक तूफान के पश्चिम बंगाल तक पहुंचने की आशंका है। इन इलाकों में तेज हवाओं के चलते कई जगह यातायात प्रभावित हुआ है। पेड़ गिरने के चलते सड़कें अवरूद्ध हो गई है।

हाई अलर्ट पर रेल प्रशासन, 223 ट्रेनें रद्द

चक्रवाती तूफान ‘फानी’ की वजह से एहतियात के तौर पर, भारतीय रेलवे ने चार मई तक कोलकाता-चेन्नई मार्ग पर ओडिशा तटरेखा के साथ लगे भद्रक-विजयनगरम के बीच 223 ट्रेनों को रद्द कर दिया है।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “कोलकाता-चेन्नई मार्ग के भद्रक-विजयनगरम सेक्शन (ओडिशा तटरेखा के साथ लगे) पर 140 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों और 83 यात्री ट्रेनों को चार मई की दोपहर तक रद्द कर दिया गया है।”

यह भी पढ़ें.. शोपियां में भारतीय सुरक्षाबलों ने मार गिराए दो आतंकी, शीर्ष हिजबुल कमांडर के होने की भी आशंका

इन ट्रेनों का रुट बदला

उन्होंने कहा कि नौ ट्रेनों का मार्ग बदला गया है और चार ट्रेनों को कुछ समय के लिए रोका गया है। इससे पहले भीषण चक्रवाती तूफान फानी ने शुक्रवार सुबह पुरी के पास ओडिशा तट पर दस्तक दी, इसके चलते आंध्र प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश होने लगी, जबकि तेज रफ्तार हवाओं ने पेड़ और बिजली के खंभे उखाड़ दिए।

यह भी पढ़ें.. चुनावी यात्रा : कैसा है एक ब्राह्मण सांसद के गोद लिए गांव में हरिजनों का हाल?

;
Loading...
Loading...
,