अंतरराष्ट्रीय - चीन : 2017 में बच्चों को किया था चाकू से घायल, 2019 में झूला फांसी पर

चीन : 2017 में बच्चों को किया था चाकू से घायल, 2019 में झूला फांसी पर



Posted Date: 07 Jan 2019

24
View
         

नई दिल्ली। 2017 में चीन के एक पार्क में एक हादसा हुआ। यहां एक व्यक्ति रसोई में इस्तेमाल किए जाने वाले चाकू को लेकर पार्क में घुस आया। यहां खेल रहे 12 बच्चों पर उसने हमला कर दिया। हांलांकि सभी बच्चों का जीवन सुरक्षित रहा लेकिन 4 बच्चे गंभीर रूप से घायल और 8 को हल्की चोटें आईं। अब सोमवार को खबर आई कि उस व्यक्ति को इस अपराध के लिए फांसी पर लटका दिया गया।

चीन ने 2017 में बच्चों के एक पार्क में 12 बच्चों पर चाकू से हमला करने के जुर्म में दोषी करार दिए गए व्यक्ति को फांसी पर लटका दिया गया। चीन की नेशनल मीडिया ने सोमवार को इसकी जानकारी दी।

चीन की समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने चीन के सुप्रीम पीपुल्स कोर्ट के हवाले से कहा, "गुआंग्शी हुआंग ऑटोनोमस रीजन के पिंगजियांग में नानशान गांव के निवासी किन पेंग आन को पिछले शुक्रवार को मृत्युदंड दिया गया।"

एसपीसी के बयान के अनुसार, गुआंग्जी जुआंग क्षेत्र में चार जनवरी 2017 को किन ने किचन में इस्तेमाल किए जाने वाले एक चाकू से पार्क में बच्चों पर हमला कर दिया था। जिनमें चार बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि अन्य आठ बच्चों को हल्की चोटें आईं थीं। बयान के अनुसार, घटना के बाद हमलावर भाग गया और बाद में उसने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

यह भी पढ़ें : भूकंप के झटकों से हिला ईरान और इंडोनेशिया, 75 लोग जख्मी

इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट ऑफ शोंग्जू ने किन को मृत्युदंड सुनाया और जानबूझकर हत्या करने के लिए उसके सारे राजनीतिक अधिकारों से वंचित कर दिया। उसने सजा के खिलाफ अपील की थी, जिसे खारिज कर दिया गया।

यह भी पढ़ें : चीन में नया कानून पारित, मुसलामानों को चीनी कानून के हिसाब से ढालना होगा इस्लाम

चीन की इस घटना से हमें वहां कानून की कठोरता का पता चलता है। एक ओर जहां विश्व के कई विकसित देश फांसीवाद का विरोध करते हैं, वहीं चीन घायल करने के लिए फांसी की सजा दे देता है।


BY : Yogesh