अंतरराष्ट्रीय - चाहते हैं बंपर सैलरी तो काम करें यहां, ये रहे सबसे ज्यादा सैलरी देने वाले टॉप 5 देश

चाहते हैं बंपर सैलरी तो काम करें यहां, ये रहे सबसे ज्यादा सैलरी देने वाले टॉप 5 देश



Posted Date: 09 Dec 2018

13
View
         

नई दिल्ली। एक अच्छी नौकरी की तलाश हर व्यक्ति को होती है। इसके साथ ही सभी की ख्वाहिश होती है कि उसे ऑफिस में बेहतरीन सैलरी पैकेज ऑफर हो। लोग इसके लिए कड़ी मेहनत करते हैं लेकिन हर कोई इस मामले में सफल नहीं हो पाता है। ऐसे में कई बार लोग कम सैलरी मिलने के लिए उस देश को या फिर उस कंपनी को या फिर उस क्षेत्र को जिम्मेदार ठहराते हैं, जहां वह काम करते हैं।

अगर आपकी भी यही शिकायत है तो आज हम आपके लिए इसका समाधान लेकर आए हैं। अगर आप पैसा कमाने के लिए दुनिया के किसी भी देश में जाने को तैयार हैं तो, अच्छी सैलरी पाना ज्यादा मुश्किल नहीं है। आज हम आपको दुनिया के उन टॉप 5 देशों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां काम करने वालों को सबसे अच्छा सैलरी पैकेज ऑफर किया जाता है।

जानिए कौन से हैं वो पांच देश

अमेरिका

दुनिया में सबसे अधिक सैलरी देने वाले मुल्कों में अमेरिका सबसे ऊपर है। अमेरिका में 31.6 फीसदी टैक्स देने के बाद एक व्यक्ति को साल में औसतन कम से कम 41,355 डॉलर सैलरी मिल जाती है।

लक्जमबर्ग

लिस्टा में दूसरे नंबर पर लक्जमबर्ग है। लक्जमबर्ग को पूरे यूरोप में आर्थिक केंद्र के तौर पर जाना जाता है। लक्जमबर्ग को पूरे यूरोप में स्टील उपलब्धता के लिए भी जाना जाता है। लक्जमबर्ग में एक व्यक्ति को 38,951 डॉलर का सालाना भुगतान बतौर सैलरी किया जाता है। यह सैलरी व्यक्ति को तब मिलती है जब उसकी मूल सैलरी से 37.7 फीसदी टैक्स काट लिया जाता है।

नॉर्वे

नॉर्वे को दुनिया के सबसे धनी देशों में एक माना जाता है। इसका मुख्य कारण उसके पास मौजूद नेचुरल रिसोर्सेज हैं। नॉर्वे में तेल, हाइड्रोपॉवर, फिशिंग और मिनरल अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। नॉर्वे में लोगों को जो सैलरी मिलती है, उसका 37 फीसदी टैक्स काट लिया जाता है। इसके बाद उन्हें सालाना औसतन 33,492 डॉलर सैलरी मिलती है। इसके अलावा यहां पर अतिरिक्त घंटे काम करने पर अलग से पैसों का भुगतान होता है।

स्विट्जरलैंड

स्विट्जरलैंड को दुनिया के सबसे उम्दा देशों में एक माना जाता है। यह सरकारी पारदर्शिता, जीवन की गुणवत्ताद, आर्थिक और मानव विकास के लिए जाना जाता है। स्विट्जरलैंड में एक व्यक्ति की औसत इनकम सालाना 33,491 डॉलर है। साथ ही वहां पर सप्ताह में काम करने का समय भी निर्धारित है और वहां काम करने वालों को अधिकतम 35 घंटे ही सप्ताह में काम करना होता है।

ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया को दुनिया में ऑयल और मिनरल का सबसे बड़े निर्यातक देश माना जाता है। ऑस्ट्रेलिया में औसतन एक व्यक्ति को सालाना 31,588 डॉलर सैलरी मिलती है। यह सैलरी 27.7 फीसदी टैक्स काटने के बाद दी जाती है। ऑस्ट्रेलिया में हर सप्ताह में 36 घंटे काम करना होता है।

यह लिस्ट 2016 के आंकड़ों पर आधारित है।


BY : Indresh yadav


Loading...