विशेष - भैयादूज स्पेशल : पढ़िए खबर और याद करिए बचपन में भाई-बहन के साथ कीं ये पांच शरारतें

भैयादूज स्पेशल : पढ़िए खबर और याद करिए बचपन में भाई-बहन के साथ कीं ये पांच शरारतें



Posted Date: 09 Nov 2018

32
View
         

भैयादूज स्पेशल। आज है भाई-बहन का त्योहार भैया-दूज। भाई-बहन का रिश्ता वो रिश्ता है जिसमें जीवन के एक लंबे समय तक दोनों साथ रहते हैं। एक ही घर, मां-पापा, कपड़े, बिस्तर, होमवर्क, खाना और यहां तक की प्रॉब्लम्स भी आपस में शेयर करते हैं। इतना सब कुछ आपस में एक जैसा होता है तो कहीं न कहीं छोटी-मोटी अनबन भी हो जाती है। ये रिश्ता ही ऐसा है जो खुद ही इस अनबन से बचने के जुगाड़ तलाश लेता है।

इसी जुगाड़ में शामिल होती हैं कुछ खट्टी-मीठी डील्स। ऐसी डील जो दोनों करते तो अपना-अपना काम निकालने के लिए हैं, लेकिन वो इस रिश्ते को यादगार और मजबूत बना देती हैं। आइए आप भी एक नजर ड़ालिए ऐसी पांच डील्स पर जो हर भाई-बहन के बीच होती हैं,

1. बदले में ये काम:

'ये काम कर दे बस, मैं तेरे दो काम करूंगा.' अक्सर जब हम आलस में होते हैं और कोई काम नहीं करना चाहते, ऐसे में जो हमें सबसे उम्दा इंसान दिखता है हमारा काम करने के लिए वह होता है हमारा भाई या बहन। ऐसे में हर भाई-बहन के बीच होती है एक डील- 'यार, इस बार ये कर दे, अगली बार इसके बदले तेरे दो काम कर दूंगा, जो भी तू कहे।'

2. मम्मी को मत बताना प्लीज :

भाई-बहन का रिश्ता ही ऐसा होता है, जिसमें एक दूसरे के बचपन से लेकर जवानी तक कई राज एक दबे होते हैं। वो एक दूसरे को कभी-भी किसी भी समय ब्लैकमेल कर सकते हैं।

3. एक दिन मेरा,एक दिन तेरा :

भाई बहन का रिश्ता ऐसा ही है कि वे बचपन से ही जाने कितनी चीजें शेयर करते हैं। अब ऐसा तो हो ही नहीं सकता कि एक ही घर में रहते हुए जब आप लगभग हर चीज शेयर कर रहे हैं, तो अनबन होना तो तय है। ऐसे में मां-बाप बच्चों को खुश करने के लिए उस चीज को दोनों में बांट देते हैं।

4. बराबर आधा-आधा :

भाई-बहन के बीच होने वाली एक डील यह भी है, जो बेहद ही अच्छी होती हैं यही डील दोनों के रिश्ते को मजबूत भी करती हैं। अक्सर बचपन में पॉकेट मनी कम होने पर दोनों आधा-आधा हिस्सा मिलकार कुछ खाने के लिए मंगाते या लाते हैं और मिल कर आधा-आधा खाते हैं।

5. पापा के साइन कर दे :

ये डील अक्सर भाई बहन से करते हैं। वो जानते हैं कि बहन पापा जैसे साइन कर लेती है, इसलिए स्कूल के किसी फॉर्म में या रिपोर्ट कार्ड पर अक्सर उससे साइन कराते हैं। और बदले में बहन को मिलती है मोटी रिश्वत...


BY : Yogesh Mishra


Loading...