अंतरराष्ट्रीय - यमन के बिगड़ते हालातों पर संयुक्त राष्ट्र का बड़ा बयान, कहा- बच्चों के लिए नरक बन गया ये देश

यमन के बिगड़ते हालातों पर संयुक्त राष्ट्र का बड़ा बयान, कहा- बच्चों के लिए नरक बन गया ये देश



Posted Date: 05 Nov 2018

58
View
         

सना। यूनिसेफ के मध्यपूर्व एवं उत्तरी अफ्रीका के क्षेत्रीय निदेशक का कहना है कि यमन में युद्ध ने पूरे देश को बच्चों के लिए नरक बना दिया है। क्षेत्रीय निदेशक गीर्ट कैप्पेलियर ने इस रविवार को संवाददाता सम्मेलन में यमन में मानव निर्मित आपदा के बारे में बात की। संयुक्त राष्ट्र के अनुमान के मुताबिक, यमन में 1.4 करोड़ लोग यानी देश की आधी आबादी भुखमरी के हालात से गुजर रही है।

कैप्पेलियर ने यमन की यात्रा के बाद जॉर्डन के अम्मान में कहा कि यमन में आज बच्चों के लिए जीना दुश्वार हो गया है। यह देश सिर्फ 50 से 60 फीसदी बच्चों के लिए ही नरक नहीं बन गया है बल्कि हर बच्चे के लिए नरक बन गया है।यूनिसेफ क्षेत्रीय निदेशक ने कहा कि मैंने होदेदिया बंदरगाह का दौरा किया। यह बंदरगाह यमन की 70 से 80 फीसदी आबादी की जीवनरेखा है। होदेदिया बंदरगाह के कारण ही यहां व्यावसायिक व मानवीय आपूर्ति होती है।

वहीं शनिवार से होदेदिया के आसपास लड़ाई तेज हो गई है। हौती विद्रोहियों नें होदेदिया के साथ-साथ राजधानी सना पर भी नियंत्रण कर लिया है।

यह भी पढ़ें : आॅस्ट्रेलिया का एक ऐसा अनूठा शहर, जहां 100 सालों से जमीन के नीचे बसे हैं लोग

सरकारी टेलीविजन की रविवार की खबर के मुताबिक, 50 से ज्यादा हौती विद्रोही और सरकार समर्थक 17 लड़ाके इस झड़प में मारे गए लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि यह मौतें कब हुई।

यह भी पढ़ें : सऊदी अरब के प्रिंस अल-वालीद के भाई खालिद बिन रिहा


BY : Indresh yadav


Loading...