राष्ट्रीय - जूते पर लिखी धार्मिक टिप्पणी से मेरठ-मुजफ्फरनगर में बवाल! पुलिस ने 3 को हिरासत में लिया

जूते पर लिखी धार्मिक टिप्पणी से मेरठ-मुजफ्फरनगर में बवाल! पुलिस ने 3 को हिरासत में लिया



Posted Date: 08 Jan 2019

32
View
         

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मेरठ और मुजफ्फरनगर शहर में शान्ति का माहौल उस समय साम्प्रदायिक तनाव की स्थिति में बदल गया, जब एक नामचीन जूता कंपनी के कथित नकली जूतों पर धार्मिक टिप्पणी लिख बिक्री के लिए मार्केट में उतारा गया। जूते पर समुदाय विशेष को लेकर लिखी गलत टिप्पणी की खबर फैलते ही हापुड़ बस अड्डे पर हंगामा मच गया। एक शख्स ने मामले को लेकर जमकर बवाल काटा। मामला यहीं शांत नहीं हुआ।

इसके बाद मुजफ्फरनगर के छपार में स्थित खामपुर गांव में कुछ लोगों ने मांस की दुकान बंद कराने की कोशिश की। इस दौरान दो समुदायों के बीच टकराव के हालात पैदा हो गए। हालांकि, मामले की सूचना पाते ही आनन-फानन पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और झगड़ा कर रहे लोगों को खदेड़ा। कड़ी मशक्कत और तीन लोगों को हिरासत लेने के बाद पुलिस ने स्थिति पर काबू पाया।

मेरठ में जूते पर लिखी धार्मिक टिप्पणी पर तनाव

एक हिंदी अखबार में छपी खबर के अनुसार, मेरठ में सराय बहलीम निवासी छोटू लालकुर्ती पैठ से जूते लेकर आया था। इन जूतों पर धार्मिक टिप्पणी लिखी थी। अन्य लोगों को इसकी जानकारी मिली तो वो भड़क उठे। जूतों पर धार्मिक टिप्पणी खबर आदर्श सेवा समिति के अध्यक्ष अनस चौधरी को मिली। इस पर वे सैकड़ों लोगों को एकत्रित कर हापुड़ अड्डे पहुंचे और बस स्टॉप का संचालन ठप करा दिया।

सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंच गई और किसी तरह लोगों को शांत कराने की कोशिश की। प्रदर्शन के दौरान जूते पर धार्मिक टिप्पणी करने वाले के खिलाफ चौधरी ने सख्त कदम उठाने की मांग की है। चौधरी के मुताबिक, एक बड़े ब्रांड के नकली जूते बेचे जा रहे हैं, जिनपर आपत्तिजनक टिप्पणी लिखी हुई है।

मुजफ्फरनगर में मांस की दुकान बंद कराने की कोशिश

उधर, एक घटना मुजफ्फरनगर के खामपुर गांव में हुई। हालांकि पुलिस की मुस्तैदी के चलते हालात बिगड़ने से पहले ही विवाद खत्म करा दिया गया। दरअसल, खामपुर में रेई मार्ग पर कुछ लोगों ने मांस की दुकान बंद कराने की कोशिश की तो दो पक्ष सामने आ गए। जिसके बाद यहां टकराव की स्थिति पैदा हो गई। मामले में एक पक्ष का कहना है कि मीट की दुकान के पास धार्मिक स्थल है। हगांमे का पता चला तो भारी संख्या में पुलिस बल घटनास्थल पर पहुंच गया और काफी मशक्कत और समझाने के बाद किसी तरह तनाव और विवाद खत्म कराया।


BY : shashank pandey