अंतरराष्ट्रीय - अमेरिका ने लगाया ईरान पर प्रतिबंध, भारत को लेकर अभी भी संशय बरकरार

अमेरिका ने लगाया ईरान पर प्रतिबंध, भारत को लेकर अभी भी संशय बरकरार



Posted Date: 05 Nov 2018

51
View
         

वाशिंगटन। 5 नवंबर सोमवार से अमेरिका ने ईरान के खिलाफ प्रतिबंध प्रभावी कर दिए हैं। ट्रंप की तरफ से लगाए गए ये प्रतिबंध अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंध माने जा रहे हैं। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, इन प्रतिबंधों के बारे में बयान देते हुए ट्रंप प्रशासन ने कहा कि उसे इस बात का भरोसा है कि ईरान के शासन के बर्ताव को बदलने में ये असरदार सबित होंगे। हालांकि उन्होंने यह सवाल टाल दिया कि क्या भारत और चीन ने अमेरिका को यह पक्का भरोसा दिलाया है कि छह महीने के भीतर वे तेहरान से तेल खरीद पूरी तरह बंद कर देंगे।

इस तरह के सवालों के सीधे जवाब नहीं देते हुए उन्होंने कहा कि देखिए हम क्या करते हैं। पहले के मुकाबले इस बार कहीं अधिक मात्रा में कच्चे तेल को हमने बाजार से हटा दिया है। उन प्रयासों को देखिए जो राष्ट्रपति ट्रंप की नीति से हासिल हुए हैं। हमने यह सब किया और साथ ही यह भी ध्यान रखा कि अमेरिकी उपभोक्ता इससे प्रभावित नहीं हों।

यह प्रतिबंध ईरान के बैंकिंग और ऊर्जा क्षेत्र में लागू हुए हैं और वहां से तेल आयात जारी रखने वाले यूरोप, एशिया तथा कहीं के भी देशों और कंपनियों पर फिर से जुर्माने का प्रावधान करते हैं।

हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि अमेरिका भले ही ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगाकर अपने लक्ष्य को हासिल करना चाह रहा हो, लेकिन उसकी संभावना के विपरीत इससे तेहरान की अर्थव्यवस्था पर सीमित प्रभाव पड़ेगा। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, वाशिंगटन ने अगस्त में प्रतिबंधों के पहले चरण को दोबारा से लागू किया था।

वहीं प्रिंसटन विश्वविद्यालय के मध्यपूर्व नीति विशेषज्ञ व पूर्व ईरानी परमाणु वार्ताकार सैयद हुसैन मुस्सावैन ने कहा कि ईरान पर 40 वर्षों से ज्यादा समय से प्रतिबंध लगे हुए हैं, इसमें कुछ नया नहीं है।

यह भी पढ़ें : भारत में दखल देने की तैयारी में ड्रैगन, पाक से याराना निभाते हुए जाहिर की मंशा

इससे पहले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा कि ट्रंप प्रशासन आठ देशों को छह महीने की छूट प्रदान करेगा। हालांकि उन्होंने देशों के नाम नहीं बताया।

यह भी पढ़ें : ट्विटर का बड़ा कदम, वोटिंग प्रभावित करने वाले हजारों अकाउंट डिलीट


BY : Indresh yadav


Loading...