राजनीति - क्या राहुल बनेंगे पीएम? बोलीं स्मृति ईरानी- ‘ऐसे मुंगेरीलाल के हसीन सपने देखने से किसने मना किया है’

क्या राहुल बनेंगे पीएम? बोलीं स्मृति ईरानी- ‘ऐसे मुंगेरीलाल के हसीन सपने देखने से किसने मना किया है’



Posted Date: 05 Jan 2019

49
View
         

लखनऊ। वर्ष 2014 का लोकसभा चुनाव कांग्रेस उम्मीदवार राहुल गांधी से हार चुकीं केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को कहा कि अमेठी अब कांग्रेस का गढ़ नहीं रहा, क्योंकि कांग्रेस विधानसभा चुनाव में सभी सीटें हार चुकी है। एक दिन के दौरे पर अमेठी पहुंचीं स्मृति ने पत्रकारों से यह बात कही। राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाए जाने की संभावना का जिक्र किए जाने पर उन्होंने कहा कि ऐसे मुंगेरीलाल के हसीन सपने देखने से किसने मना किया है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को महागठबंधन में अभी तक आशीर्वाद न तो मायावती से प्राप्त हुआ है, न अखिलेश यादव से और न ही ममता बनर्जी से तो उन्हें सपने देखने से किसने मना किया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अमेठी अब कांग्रेस का गढ़ नहीं रहा, क्योंकि कांग्रेस विधानसभा चुनाव में सभी सीटें हार चुकी है।राम मंदिर मामले पर स्मृति ईरानी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होती है तो कांग्रेस के नेता व वकील प्रक्रिया में बाधा बन जाते हैं। कांग्रेस के लोग नहीं चाहते कि अयोध्या में राम मंदिर बने।

राम मंदिर मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा अगली सुनवाई की तारीख 10 दिसंबर की तारीख दिए जाने पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने पहले ही इस मसले पर कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ही कुछ निर्णय लिया जाएगा। कांग्रेस के वकील नेता इस पर क्या रुख रखते हैं, इस पर भी राहुल को जवाब देना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा उत्तर प्रदेश के युवाओं पर की गई टिप्पणी पर राहुल गांधी से सवाल किया कि उन्होंने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के बयान पर चुप्पी क्यों साध रखी है? वे किस मुंह से अमेठी के युवाओं से नजरें मिलाएंगे।

यह भी पढ़ें : कोई असली नागरिक एनआरसी में नहीं छूटेगा, सरकार लाएगी नागरिकता विधेयक- पीएम मोदी

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी के विकास कार्यो को देखते हुए पांच साल में एक बार चुनाव में आने वाले राहुल गांधी अब अमेठी आने के लिए समय निकालने लगे हैं।

यह भी पढ़ें : ‘राम सिर्फ हिंदुओं के नहीं, मैं भी लगाने जाऊंगा मंदिर में पत्थर’ : अब्दुल्ला


BY : Indresh yadav