राजनीति - MP : वंदे मातरम पर घमासान जारी, शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी विधायकों संग सचिवालय में गाया राष्ट्रीय गीत

MP : वंदे मातरम पर घमासान जारी, शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी विधायकों संग सचिवालय में गाया राष्ट्रीय गीत



Posted Date: 07 Jan 2019

52
View
         

भोपाल। मध्य प्रदेश में साल की शुरुआत के साथ शुरु हुआ वंदे मातरम् विवाद और भी गरमाता जा रहा है। दरअसल, पिछले ही दिनों पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया था कि वह सभी बीजेपी विधायकों के साथ वंदे मातरम् गाएंगे।

अपने फैसले के अनुसार, शिवराज सोमवार को सभी पार्टी विधायकों के साथ भोपाल में मंत्रालय पार्क पहुंचे और वंदे मातरम् का गायन किया। इस दौरान बैकग्राउंड में लता मंगेशकर द्वारा गाए वंदे मातरम की रिकॉर्डिंग चल रही थी और बीजेपी नेता साथ में गायन कर रहे थे।

शिवराज ने गाया वंदे मातरम, कांग्रेस पर बोला हमला

वंदे मातरम गीत गाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की सरकार ने वंदे मातरम पहले बंद किया, लेकिन विरोध हुआ और उस पर हमारे मध्य प्रदेश के नागरिकों का दबाव पड़ा, तो इसे नए स्वरूप में लागू करने की बात कही है। वंदे मातरम का कोई नया पुराना स्वरूप नहीं होता, वंदे मातरम सिर्फ वंदे मातरम है।’

शिवराज ने कहा, आज हमने वंदे मातरम का निर्णय इसलिए किया था कि हमारी बीजेपी सरकार ने इसके गायन की शुरुआत की थी, लेकिन नई सरकार ने परंपरा को तोड़ा था, इसलिए हमें आज यहां वंदे मातरम गायन करने का निर्णय किया था। 

कैसे शुरु हुआ वंदे मातरम पर विवाद

दरअसल, मध्य प्रदेश के सभी सरकारी दफ्तरों में माह की पहली तारीख को वंदे मातरम् गीत गया जाता था। लेकिन इस बार जब राज्य में कांग्रेस पार्टी की सरकार आई तो 1 जनवरी 2019 को मध्य प्रदेश की इस परंपरा का पालन नहीं किया गया। इस पर विपक्ष में बैठी भारतीय जनता पार्टी भड़क गई। इसके बाद वंदे मातरम् पर सियासी हंगामा शुरु हो गया।

यह भी पढ़ें.. शाह को मिली चिठ्ठी, उड़ गए बीजेपी नेताओं के होश, ‘पदाधिकारियों की सोच पहले खुद और आखिर में पार्टी’

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान कर दिया कि 'अगर कांग्रेस को राष्ट्र गीत के शब्द नहीं आते हैं या फिर राष्ट्र गीत के गायन में शर्म आती है, तो मुझे बता दें। हर महीने की पहली तारीख को वल्लभ भवन के प्रांगण में जनता के साथ वंदे मातरम् मैं गाऊंगा।'

कमलनाथ ने दिया ‘वंदे मातरम’ को नया स्वरुप

शिवराज के इस ऐलान के बाद कांग्रेस सरकार बैकफुट पर थी। जिसके बाद कमलनाथ ने कहा था कि भोपाल में आकर्षक स्वरूप में पुलिस बैंड और आम लोगों की सहभागिता के साथ वंदेमातरम् का गायन होगा।

यह भी पढ़ें.. लोकसभा में फिर बवाल के असार, भाजपा-कांग्रेस ने जारी किया तीन लाइन का व्हिप

हर महीने के पहले कार्यदिवस पर सुबह 10:45 बजे पुलिस बैंड राष्ट्र भावना जागृत करने वाले धुन बजाते हुए शौर्य स्मारक से वल्लभ भवन तक मार्च करेंगे। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में 2005 में बीजेपी की सरकार आने के बाद से ही हर माह की पहली तारीख को राष्ट्रगीत गाता जाता रहा है।


BY : shashank pandey