अंतरराष्ट्रीय - पाकिस्तानी कोर्ट का फरमान, टीवी चैनलों पर नहीं दिखाएंगे भारतीय कंटेट क्योंकि...

पाकिस्तानी कोर्ट का फरमान, टीवी चैनलों पर नहीं दिखाएंगे भारतीय कंटेट क्योंकि...



Posted Date: 10 Jan 2019

43
View
         

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में भारतीय सीरियलों को दिखाए जाने को लेकर यहां विवाद छिड़ गया है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, पाकिस्तान के टीवी चैनलों पर भारतीय कंटेट यानि कि सामग्री दिखाए जाने को लेकर बीते बुधवार यहां के चीफ जस्टिस मियां शाकिब निसार ने बड़ा फैसला सुनाया। पाकिस्तान के मुख्य न्यायधीश ने इस मसले पर कहा कि चूंकि भारतीय कंटेट हमारी संस्कृति को खराब कर रहे हैं इसलिए पाकिस्तान की शीर्ष अदालत इन्हें यहां के टीवी चैनलों पर दिखाने की इजाजत नहीं देगी।

कोर्ट में यह मामला पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलरिटी अथॉरिटी द्वारा दाखिल किया गया था। इस अथॉरिटी द्वारा हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। इससे पहले हाई कोर्ट द्वारा भी पाकिस्तान में भारतीय सीरियल न दिखाए जाने का फैसला सुनाया था। ऐसे में अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले से भी अथॉरिटी को निराशा हाथ लगी है। अथॉरिटी के के काउंसिल जफर इकबार कलानॉरी ने सुप्रीम कोर्ट की बेंच से कहा कि विदेशी कंटेंट कोर्ट के आदेश के खिलाफ स्टे आर्डर की मांग की थी।

बता दें कि साल 2016 में अथॉरिटी ने भारतीय धारावाहिकों को पाकिस्तान के सभी क्षेत्रीय चैनलों और एफएम रेडियो पर बैन करने की बात कही थी। उस वक्त कहा गया था कि पाकिस्तान ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि भारत में इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री और कुछ चैनलों ने पाकिस्तानी कंटेंट को बैन कर दिया था। लेकिन साल 2017 में लाहौर हाईकोर्ट ने अथॉरिटी के इस बैन को हटा दिया था। इसके बाद साल 2018 में अक्टूबर के महीने में सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रतिबंध को फिर से लागू कर दिया था और लाहौर हाईकोर्ट के फैसले को पलट दिया था।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, अथॉरिटी के अध्यक्ष सलीम बेग ने अदालत से कहा कि फिल्माजिया चैनल में दिखाए जाने वाले 65 परसेंट कंटेंट विदेशी होते थे लेकिन अब यह बढ़कर 80 प्रतिशत हो गए हैं। इसपर चीफ जस्टिस ने कहा कि हम इस बात की इजाजत नहीं देंगे कि भारतीय कंटेंट पाकिस्तानी चैनलों पर दिखाए जाएं। अथॉरिटी काउंसिल ने चीफ जस्टिस को विस्तारपूर्वक बताया कि फिल्माजिया एक न्यूज चैनल नहीं हैं बल्कि यह एक मनोरंजन चैनल है। यह कोई प्रोपगैंडा नहीं फैलाता।

यह भी पढ़ें : नेताओं के बयानों से हुआ ऐसा नाराज, पर्सनल डेटा चुरा कर दिया इंटरनेट पर वायरल, गिरफ्तार

इस पर सुनवाई कर रहे जज ने कहा कि हालांकि यह हमारी संस्कृति को बर्बाद कर रहा है। चीफ जस्टिस ने यह पाया कि पाकिस्तान ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन काउंसिल के सदस्य फैजल सिद्दीकी कोर्ट में अनुपस्थित हैं। इसपर उन्होंने कहा कि फैज़ल सिद्दीकी की अनुपस्थिति में हम इस पर फैसला नहीं सुना सकते। अदालत ने फरवरी के पहले हफ्ते तक सुनवाई टाल दी।

यह भी पढ़ें : भारतीय दूतावास समेत कई अन्य डिप्लोमैटिक मिशन में मिले संदिग्ध पैकेज


BY : Indresh yadav