कारोबार - तेल के दामों में हुई हलचल, गिरावट से लोगों को राहत, जानिए क्या है पेट्रोल-डीजल का हाल

तेल के दामों में हुई हलचल, गिरावट से लोगों को राहत, जानिए क्या है पेट्रोल-डीजल का हाल



Posted Date: 05 Jan 2019

23
View
         

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल के दाम में शनिवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट आई। इससे पहले दो दिनों तक पेट्रोल और डीजल की कीमतें स्थिर रही थीं। तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में पेट्रोल के दाम में 15 पैसे, जबकि चेन्नई में 16 पैसे प्रति लीटर की कटौती की है। डीजल के दाम दिल्ली और कोलकाता में 18 पैसे, जबकि मुंबई में 20 पैसे और चेन्नई में 19 पैसे प्रति लीटर कम हो गए हैं।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल की कीमतें शनिवार को क्रमश: 68.29 रुपये, 70.43 रुपये, 73.95 रुपये और 70.85 रुपये प्रति लीटर थीं। चारों महानगरों में डीजल के दाम क्रमश: 62.26 रुपये, 64.03 रुपये, 65.14 रुपये और 65.72 रुपये प्रति लीटर दर्ज किए गए।

दिल्ली-एनसीआर स्थित नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम में पेट्रोल की कीमतें घटकर क्रमश: 68.62 रुपये, 68.49 रुपये, 69.87 रुपये और 69.65 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं। इन चारों शहरों में डीजल क्रमश: 61.94 रुपये, 61.81 रुपये, 62.77 रुपये और 62.56 रुपये लीटर के भाव बिकने लगा है।

पेट्रोल के दाम चंडीगढ़, लखनऊ, पटना, भोपाल और जयपुर में नई कटौती के बाद क्रमश: 64.59 रुपये, 68.50 रुपये, 72.49 रुपये, 71.31 रुपये और 69.08 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। इन पांचों नगरों में डीजल के दाम कटौती के बाद क्रमश: 59.30 रुपये, 61.84 रुपये, 65.54 रुपये, 63.48 रुपये और 64.63 रुपये प्रति लीटर दर्ज किए गए।

इससे पहले शुक्रवार को भी पेट्रोल और डीजल के दामों में गिरावट देखी गई। इस दिन भी सभी प्रमुख शहरों में पेट्रोल 20 से 21 पैसा प्रति लीटर तक सस्ता हुआ, जबकि डीजल की कीमतों में 21 से 23 पैसा प्रति लीटर तक की कमी देखी गई थी।

यह भी पढ़ें : शेयर बाजार साप्ताहिक समीक्षा : सेंसेक्स-निफ्टी हुआ कमजोर, 1 फीसदी से अधिक गिरावट

इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 68.44 रुपये प्रति लीटर हो गई थी । वहीं दिल्ली में डीजल की कीमत 62.44 रुपये प्रति लीटर हो गई थी। बता दें कि पेट्रोल की कीमतें पहले से ही एक साल के निचले स्तर पर हैं जबकि डीजल की कीमतें मार्च 2018 के बाद के निचले स्तर पर हैं।

यह भी पढ़ें : जिस मोबाइल के लिए शोरुम के बाहर लाइनें लगती थीं, उसी की कंपनी को 5,25,800 करोड़ रुपये का नुक़सान हुआ


BY : Indresh yadav