विशेष - क्या 2018 ने बदल दिया बॉलीवुड का बड़ा ट्रेंड, या खत्म हो गया खान स्टारडम?

क्या 2018 ने बदल दिया बॉलीवुड का बड़ा ट्रेंड, या खत्म हो गया खान स्टारडम?



Posted Date: 09 Jan 2019

102
View
         

लखनऊ। हिंदी सिनेमा में कपूर खानदान का स्टारडम लंबे समय तक चला था। साल 1950 से शुरु हुआ कपूर फैमिली का गोल्डेन पीरीयड करीब 4 दशक यानी 1990 तक चला था। इस दौरान राज कपूर, उनके बेटे ऋषि कपूर, शम्मी कपूर, रणधीर कपूर और राजीव कपूर ने बॉलीवुड पर राज किया। हालांकि, 1970 के दशक में अमिताभ और राजेश खन्ना ने कपूर स्टारडम को थोड़ा कम जरूर किया। बावजूद इसके अगले दो दशक भी कपूर खानदान के नाम रहे। 90 के दशक में खान कलाकारों की एंट्री हुई।

शुरुआती दौर में ऐसा नहीं लगा कि यह कलाकार आगे चलकर बॉलीवुड के बादशाह और दबंग खान बनेंगे। लेकिन समय और अपने अभिनय से इन कलाकारों ने बॉलीवुड पर ऐसा कब्जा जमाया कि पूरी इंडस्ट्री की सोच इनके आसपास ही सिमट गई। निर्देशक से लेकर निर्माता ने अपने भीतर यह बात बिठा ली कि फिल्में हिट है और मूवी में सलनाम, शाहरुख या आमिर खान फिट हैं। हालांकि 2018 आते-आते बॉलीवुड का ये नया ट्रेंड टूटता दिखने लगा है।

खान स्टार्स का खत्म हुआ बॉलीवुड से दबदबा!

दरअसल, बात कर रहे हैं बॉलीवुड के खान स्टार (सलमना खान, शाहरुख खान, आमिर खान और सैफ अली खान) और पिछले 3 दशकों से चल रहे उनके स्टारडम की। जोकि साल 2017-18 के बीच खत्म होता दिखने लगा है। यहां खान स्टारडम के खत्म होने की बात इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि पिछले कुछ सालों में इन सभी अभिनेताओं की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर खासा कमाल नहीं कर सकीं। यही नहीं साल 2018 में तो अधिकतर खान कलाकारों की फिल्में फ्लॉप साबित हुईं।

फिर चाहे सलमान खान की रेस-3 हो या फिर आमिर खान की ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान और या फिर बॉलीवुड के किंग कहे जाने वाले शाहरुख खान की फिल्म जीरो हो। सभी कलाकारों की भारी भरकम बजट वाली ये फिल्में बॉक्स ऑफिस पर धड़ाम हो गईं। उधर, सैफ अली खान की पिछले साल कोई भी फिल्म बड़े पर्दे पर नहीं आई। हालांकि, साल 2018 में उनका रुझान वेब सीरीज की ओर गया और सेक्रेड गेम्स नाम की वेब सीरीज को लोगों ने खासा पसंद किया। लेकिन बड़े पर्दे पर खान स्टार का दबदबा कहीं हद तक खत्म होता नज़र आ रहा है।

‘फेस्टिव’ ट्रेंड का भी असर हुआ कम

पिछले कुछ सालों के भीतर बॉलीवुड में त्यौहारों और नेशनल हॉली डे पर फिल्में रिलीज करने का नया चलन देखने को मिला। सलमान जहां ईद के खास मौके पर अपनी फिल्म लाकर बंपर कमाई करते दिखे तो दिवाली को शाहरुख ने भुनाया। आमिर भी इस खास चलन में अपना परफेक्शन दिखाने के लिए आगे आए। उन्होंने क्रिसमस को अपना लकी दिन बनाया। उनकी पिछली कुछ फिल्में इस दिन आईं और बंपर कमाई की। हालांकि खान स्टार्स के इस पैतरों को भी साल 2018 ने कामयाब नहीं होने दिया।

पिछले साल जहां ईद के मौके पर आई सलमान की रेस-3 जहां फ्लॉप हुई। वहीं दूसरी तरह दिवाली के मौके पर आई आमिर की ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान भी औंधे मुंह गिरी। क्रिस में ठीक 4 दिन पहले रिलीज हुई फिल्म जीरो को भी दर्शकों से खास प्यार नहीं मिला है। इस फिल्म को भी शाहरुख की फ्लॉप फिल्मों के रुप में देखा जा रहा है।


BY : shashank pandey