राष्ट्रीय - जब्त होंगी राजधानी की 40 लाख पुरानी गाड़ियां, परिवहन विभाग जारी कर चुका नोटिस

जब्त होंगी राजधानी की 40 लाख पुरानी गाड़ियां, परिवहन विभाग जारी कर चुका नोटिस



Posted Date: 08 Nov 2018

50
View
         

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली की सड़कों पर दौड़ रहे 10 साल पुराने डीजल और 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों को हटाया जाएगा। इसके दायरे में कुल 40 लाख वाहन आएंगे। दरअसल, यह कार्रवाई सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के बाद की जा रही है, जिसमें 10 और 15 साल पुराने डीजल व पेट्रोल के वाहनों के सड़कों पर दौड़ने से रोक लगाने का आदेश दिया गया था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली परिवहन विभाग ने भी 30 अक्टूबर को सार्वजनिक नोटिस जारी कर ऐसे वाहन सड़क पर पकड़े जाने पर उन्हें जब्त करने की बात कही थी।

 

परिवहन विभाग ने नोटिस जारी कर दी थी नोटिस

परिवहन विभाग की ओर 30 अक्टूबर को जारी एक नोटिस में साफ कहा गया कि ऐसे वाहनों को सड़कों पर उतारने से रोका जाएगा। इसके लिए विभाग ने ट्रैफिक पुलिस की मदद ली है। परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हमनें पुराने वाहनों की सूची तैयार कर ली है। जिसके तहत 10 साल पुराने डीजल वाहनों और 15 साल पुराने पेट्रोल/सीएनजी चालित वाहनों को सड़कों पर उतारने से मना किया गया है। फिर भी अगर कोई ऐसा वाहन सड़कों पर दौड़ाता है तो उसे जब्त कर लिया जाएगा। इसके लिए अलग-अलग शिफ्ट में परिवहन विभाग की इनफोर्समेंट टीम के अलावा ट्रैफिक पुलिस भी कार्रवाई करेगी।

जब्त वाहनों को रखनेकी दिक्कत

हालांकि दिल्ली परिवहन विभाग के सामने यह कार्रवाई करना किसी चुनौती से कम नहीं है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद परिवहन विभाग ने भले ही 40 लाख गाड़ियों को जब्त करने की बात कर रहा हो, लेकिन विभाग के आधिकारिक सूत्रों की मानें तो उनके पास इतनी बड़ी संख्या में जब्त वाहनों को रखने के लिए जगह नहीं है। विभाग बीते एक साल से ऐसे जब्त वाहनों को रखने के लिए जगह तलाश रहा है। लेकिन, कई बैठकों के बाद भी अभी तक डीडीए की तरफ से उसे जमीन नहीं उपलब्ध हो सकी है।

दिल्ली के 41% प्रदूषण का जिम्मेदार अकेले डग्गामार पुराने वाहन

गौरतलब हो कि वर्तमान में दिल्ली के प्रदूषण स्तर में 41 फीसदी की भागीदारी वाहनों की है। एनजीटी ने भी शहर में दौड़ रहे डग्गामार वाहलों को प्रदूषण का अहम कारण बताय था। ऐसे में अगर 40 लाख पुराने वाहनों को सड़कों से हटा दिया जाए तो दिल्ली में लगभग 67 लाख वाहन ही बचेंगे। इससे वाहनों से होने वाले प्रदूषण के स्तर में कमी आएगी।

  • 1.07 करोड़ वाहन दिल्ली में पंजीकृत हैं।
  • 3.3 लाख 10 साल पुराने डीजल वाहन हैं।
  • 36.7 लाख 15 साल पुराने पेट्रोल वाहन हैं।

BY : shashank pandey


Loading...