राष्ट्रीय - हिमाचल में फिर करवट बदल रहा मौसम, 9 जनवरी तक भारी बर्फबारी की चेतावनी

हिमाचल में फिर करवट बदल रहा मौसम, 9 जनवरी तक भारी बर्फबारी की चेतावनी



Posted Date: 06 Jan 2019

30
View
         

शिमला। हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में रविवार को भी बर्फबारी नदारद रही, तो वहीं लोकप्रिय पर्यटक गंतव्य मनाली में लगातार दूसरे दिन भी बर्फ गिरी। मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बुधवार तक राज्य में और बारिश और बर्फबारी की संभावना है।

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, मनाली और उसके आसपास की पहाड़ियों में मध्यम बर्फबारी हुई है। नौ जनवरी तक और अधिक बर्फबारी की संभावना है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी के अनुसार, शिमला में मध्यम बारिश हुई है और शाम को बर्फबारी हो सकती है।

पर्यटक गंतव्य मनाली के पास कोठी में अच्छी खासी बर्फबारी हुई है। शिमला में बर्फली हवाओं के कारण तापमान गिरकर 1.7 डिग्री सेल्सियस पर आ गया है। शिमला, कुफरी और नारंकडा में हुई बर्फबारी ने इन पर्यटक गंतव्यों को और अधिक आकर्षक बना दिया है।

मैदानी इलाकों से पर्यटक मनाली में आने लगे हैं, जहां नौ सेंटीमीटर बर्फ गिरी है। राज्य की राजधानी से लगभग 250 किमी दूर कल्पा में 13 सेमी बर्फबारी हुई। यहां न्यूनतम तापमान शून्य से 3.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।

अधिकारी ने कहा, लाहौल-स्पीति, चंबा, मंडी, कुल्लू, किन्नौर और शिमला जिलों के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में शुक्रवार से रुक-रुक कर बर्फबारी हो रही है। हिमाचल प्रदेश की निचली पहाड़ियों में स्थित धर्मशाला, पालमपुर, सोलन, नाहन, बिलासपुर, उना, हमीरपुर और मंडी में बारिश के कारण तापमान गिरा है।

राज्य में धर्मशाला में सबसे अधिक 21.8 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। शिमला, धर्मशाला और पालमपुर जैसे लोकप्रिय पर्यटक स्थलों के आसपास की चोटियां बर्फ से ढकी हैं। होटल व्यवसायी विक्रम ठाकुर ने बताया, हम मनाली में बर्फबारी के दौरान अधिक पर्यटकों के आने की उम्मीद कर रहे हैं।

मौसन विभाग ने कहा कि इस क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ के नौ जनवरी तक सक्रिय रहने की संभावना है जिसके कारण राज्य के अधिकांश इलाकों में छह जनवरी तक बारिश और बर्फबारी होगी। इसके बाद आठ जनवरी से दूसरे पश्चिमी विक्षोभ के कारण राज्य में अलग-अलग स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है।

उत्तर से दक्षिण तक सर्द मौसम के तेवर गरम, कंपकपी इस कदर कि हवाई यात्राएं भी हुई ठप


BY : ANKIT SINGH