कारोबार - कॉल ड्रॉप की शिकायत पर सख्त TRAI, BSNL और IDEA पर लगाया 58 लाख का जुर्माना

कॉल ड्रॉप की शिकायत पर सख्त TRAI, BSNL और IDEA पर लगाया 58 लाख का जुर्माना



Posted Date: 05 Jan 2019

32
View
         

नई दिल्ली। कॉल ड्रॉप एक ऐसी समस्या है जिसका सामना देश के प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी को भी करना पड़ा था। लेकिन इसके बाद भी टेलिकॉम कंपनियों ने इसका कोई हल नहीं निकाला। कंपनियों के लापरवाह रवैये को देखते हुए सरकार ने कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए है। यही वजह है कि भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (TRAI) ने बीएसएनएल और आईडिया समेत कई कंपनियों पर कुल 58 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है ताकि वे ऐसी गलती दोबारा न करें। इस बात की जानकारी संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने शुक्रवार को राज्यसभा में दी। 

मनोज सिन्हा ने क्वेश्चन आवर में इसकी जानकारी देते हुए कहा कि बीएसएनएल पर चार लाख की पेनल्टी जून वाली तिमाही में लगाई गई थी और इसी समय आइडिया पर भी 12 लाख की पेनल्टी लगी। ट्राई द्वारा कॉल ड्रॉप को लेकर सख्ती से उठाए गए कदमों पर जवाब देते हुए मंत्री ने बताया कि मार्च वाली तिमाही में बीएसएनएल पर 3 लाख रुपये, आइडिया पर 10 लाख रुपये, टाटा पर 22 लाख रुपये और टेलिनॉर पर 6 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया था।

जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि टेलिकम्युनिकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर सुधरने के बाद हालात पहले से बेहतर हुए हैं। इसी के तहत बीटीएस काउंट 2014 में आठ लाख के मुकाबले अब बढ़कर 20 लाख तक पहुंचा है। अब एक मोबाइल टावर कई बेस स्टेशन्स (बीटीएस) को सेवाएं दे सकता है। अब इसकी मॉनिटरिंग भी की जा रही है।

सर्विस प्रोवाइडर्स पर ये जुर्माने ट्राई ने लगाए हैं। उन्होंने कहा कि आधारभूत ढांचे में सुधार के साथ स्थिति में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में लगातार निगरानी की जाती है। सिन्हा ने कहा कि कुछ जगहों पर लोग रेडिएशन की आशंका जताते हुए मोबाइल टॉवर लगाए जाने का विरोध करते हैं। इससे भी आधारभूत ढांचा विकसित करने में बाधा आती है।

उल्लेखनीय है कि 2018 में एक सर्वे किया गया था जिसमे सबसे ज्यादा कॉल ड्रॉप के मामले में एयरटेल, वोडाफोन-आईडिया और जियो सबसे अव्वल थी। गौरतलब है कि 2018 में पीएम मोदी को भी कॉल ड्रॉप की समस्या का सामना करना पड़ा था। जिसके बाद से ही ट्राई ने टेलिकॉम कंपनियों के प्रति कड़ा कदम उठाना शुरू कर दिया।

जिस मोबाइल के लिए शोरुम के बाहर लाइनें लगती थीं, उसी की कंपनी को 5,25,800 करोड़ रुपये का नुक़सान हुआ


BY : ANKIT SINGH