राष्ट्रीय - कश्मीर में हुई बर्फबारी से दिल्लीवासियों की जेब होगी ढीली, जानें इसकी वजह!

कश्मीर में हुई बर्फबारी से दिल्लीवासियों की जेब होगी ढीली, जानें इसकी वजह!



Posted Date: 06 Nov 2018

54
View
         

श्रीनगर। कुदरत का स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर में पिछले दो दिनों के भीतर भारी हिमपात हुआ है। नवंबर के पहले हफ्ते में हुई अचानक बर्फबारी से राज्य को भारी नुकसान की खबर है। जहां इस बर्फबारी से सेब की तैयार फसल को नुकसान पहुंचा है, वहीं बर्फबारी के चलते प्रमुख राजमार्गों के बंद होने से सेब को राज्य से बाहर निकालने का काम बाधित हो गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, दक्षिण कश्मीर में कई क्षेत्र जैसे शोपियान, पुलवामा और त्राल में भारी बर्फबारी से राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया है। उधर, उत्तर कश्मीर के सोपोर, बारामुल्ला समेत कई इलाकों में सड़कों को नुकसान पहुंचने की सूचना मिल रही है।

500 करोड़ के सेब बर्फबारी में चौपट

एक त्वरित अनुमान के मुताबिक, 24 घंटें में बर्फबारी के चलते सेब किसानों को लगभग 500 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। कश्मीर के सोपोर इलाके में एक सेब बागान मालिक फारुख अहमद बताया कि उन्हें इतनी जल्दी बर्फबारी की उम्मीद नहीं थी। इसके चलते उन्होंने बर्फबारी से बचाव के कोई इंतेजाम नहीं किया थे। पेड़ों से तोड़े सेब भी बागानों में खुले पड़े थे। वहीं पेड़ों पर भी बड़ी मात्रा में तोड़े जाने के लिए सेब तैयार थे, लेकिन भारी बर्फबारी के चलते यह काम बाधित हुआ और सेब खराब हो गए।

कश्मीर से दिल्ली रवाना हुए थे सेब से लदे 5000 ट्रक

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, घाटी में बर्फबारी के बाद राजमार्ग को पहुंचे नुकसान के चलते सेब से लदे लगभग 5,000 ट्रक फंसे हुए हैं। मालूम हो कि यह ट्रक कश्मीर से दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। लेकिन अचानक हुई भारी बर्फाबारी ने करीब दो दिन इन ट्रकों को टस से मस नहीं होने दिया। इसके चलते सेब के ट्रकों में ही खराब होने की आशंका जताई जा रही है। वहीं दिल्ली और आसपास के इलाकों में त्यौहार के दौरान सेब की कीमतों में उछाल आने की संभावना नज़र आ रही है।

यह भी पढ़ें.. सेना ने मार गिराए हिजबुल के दो आतंकी, एक की पूर्व जवान के रूप में हुई पहचान

9 साल बाद घाटी में नवंबर के पहले सप्ताह में भारी हिमपात

बता दें कि घाटी में 9 साल बाद नवंबर के पहले सप्ताह में भारी हिमपात देखने को मिला है। इससे पहले साल 2009 में श्रीनगर में नवंबर के पहले सप्ताह में बर्फबारी हुई थी और उससे भी पहले 2004 और 2008 में भी हिमपात देखने को मिला था।

यह भी पढ़ें.. सबरीमाला प्रदर्शन की आंच में घी डाल गया बीजेपी प्रमुख का आडियो! सियासी गलियारों में घमासान


BY :


Loading...